चाय पीने के नुकसान, अपने स्वास्थ्य से खेलना है तो चाय पीना।

आजकल के लोगों का सबसे गजब का काम- वो है चाय पीना,सवरे उठकर चाय सुड़कने लगते हैं और कई तो ऐसे महान लोग है जो बिना टट्टी शौच जाये चाय पीते हैं वो तो मुझे कहते है कि चाय नहीं पीयो तो टट्टी/शौच भी नहीं उतड़ती है। इसलिए चाय पहले पीते उनको बैड टी चाहिए-बिस्तर पर चाय चाहिए और इसपे खर्चा कितना होता है 1 किलो चाय 200रू किलो, हर साल भारत के लोग 70 करोड़ किलो ग्राम चाय पी जाते है सोचो कितना पैसा बचे। फालतू के, फालतू इसलिए भी है कि चाय पी-पी के अपना शरीर खराब होता रहता है ज्यादा चाय पियोगे नशा हो जायेगा, नशा मालूम है किस बात कि रोज चाय पिने पडेगी। एक दिन न पिये तो सर में दर्द होने लगता है कुछ लोग कहते है कि एक दिन भी चाय न मिले तो सर घुमने लगता है तो ऐसा नशा किस काम का और दूसरी समस्या ये कि चाय पियो तो पेट खराब, चाय से पेट खराब पता है कैसे होता है? चाय में कुछ कैमिकेल हैं ये कैमिकेल यह कैफिन,निकोटिन,टैनिन ऐसे 18-20 कैमिकेल है चाय में ये सब पेट में जाकर अम्लता बढ़ाता है, अम्लता समझते है ऐसेडिटी, पेट में वैसे भी गैस बनता है अम्ल बनता है चाय पियो तो और बनता है। पेट में जब अम्ल ज्यादा बनता है तो वो खून में चला जाता है जब खून की अम्लता जब बढ़ता है तो 80 रोग आतें हैं। घुटने दुखना,जोड़ो का दर्द होना,हार्ट-अटैक होना,कमर दुखना,कंधा दुखना तो कई बार ब्रेन हैम-रेज होना खराब से खराब रोग शरीर की खून की अम्लता बढ़ने से होना है ये अम्लता सबसे ज्यादा चाय से होती है क्यों फालतु के चाय पिना।

आदमी को छोड़ कर कोई चाय नहीं पीता मैंने कई बार कुत्ते को पिलाकर देखा मगर वो नहीं पीता। गाय को पिलाया वह भी नहीं पीती, भैंस भी नहीं पीती कोई भी जानवर चाय नहीं पीता,पक्षी भी नहीं पीते,दूध पीते है दही खा लेंगें लेकिन चाय नहीं पीते है। येे मनुष्य मूर्ख है जो चाय पीता रहता है वो अकेला नहीं पीता, हर घर में आने वाले को भी पी लाता है,ले तू भी पी। अपनी आँते जलाते है,पेट जलाते हैं,पैसा बर्बाद करते हैं,स्वास्थ्य खराब होता है चाय पीने वालो को भूख नहीं लगती है जिनकों भूख नहीं लगती है शरीर कमजोर होगा तो बिमारियाँ होगीं इसलिए मत पीयो। आप चाय छोड़ दो,सारा देश चाय छोड़ दे,तो 70 हजार करोड़ रूपये हमारे भारत देश के बच जाये तो आप छोड़ दो। कोई भी भारत के महान पुरूष ने चाय नहीं पी-महात्मा गाँधी,सरदार पटेल,भगत सिंह,सुभाष चंद्र बोस तो आप क्यों पी रहे हैं बंद करो तो आप बोलेगें तो क्या पीयें चाय की जगह मैं आपको बताता हूँ दूध पीयो, आप बोलेंगें दूध पीने से क्या लाभ हैं दो लाभ है अगर चाय बिकना कम हो जाये और दूध बिकना बढ़ जाये तो जानवर ज्यादा पालने पड़ेगें तो मुनाफा पूरा किसानों को मिलेंगा और चाय मुनाफा मिलता है ज्यादा-से-ज्यादा विदेशी कम्पनियों को हमारे देश में जो चाय बिक रही है वो सबसे ज्यादा बिकने वाली कम्पनी है बूर्क बॉर्न,लिमटन,ट्री-सीटी इत्यादि ये सब विदेशी कम्पनी है तो ज्यादा चाय पीओगे तो मुनाफा विदेशी को मिलेगा, ज्यादा दूध बिकेगा तो मुनाफा किसानों को मिलेगा तो क्या चाहिए चाय या दूध। इसलिए चाय बंद करो और दूध पीयो कुछ लोग कहते है चाय की लत लग गई तो क्या करें, उसका रास्ता मैं बताता हूँ ध्यान दें पानी लेलो खुब गर्म कर लों उसमें तुलसी का पत्ता डाल दो,अदरक डाल दो,काली मिर्च डाल दो,दालचानी डाल दो,थोड़ा गुड़ डाल दो और खूब गर्म कर लो और चाय की तरह काढ़ा बनाकर पी लो। आप बोलेंगे इतना सब कौन करेगा तो खाली पानी को खूब गर्म कर लो और उसमें नींबू डाल दो गुड़ डाल दो। ये भी नहीं कर सको तो पानी को खूब गर्म कर लो और चाय की तरह पीयो, बहुत फायदा है पता है क्या फायदा है जब हम बहूत गर्म पानी पीते हैं तो शरीर के अंदर चाय का जहर जमा है वो सब पिशाव के रास्ते निकल जायेंगा और शरीर शुद्ध हो जायेगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *